परम श्रद्धेय स्व० बालासाहेब ठाकरे जी के 8वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन

कभी चुनाव ना लड़ने पर भी सदैव किंग मेकर की भूमिका निभाने वाले कट्टर हिंदूवादी नेता एवं शिवसेना के संस्थापक बाला साहब ठाकरे की पुण्यतिथि पर शिवसेना उत्तर प्रदेश महासचिव किशन लाल रावत के कार्यालय पर बाला साहब ठाकरे के छाया चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की गई। इस अवसर पर प्रदेश महासचिव किशन लाल रावत ने बालासाहेब को याद करते हुए कहा कि बाला साहेब ठाकरे को कट्टर हिंदूवादी नेता और बाबरी विध्वंस के लिए कभी भी भुलाया नहीं जा सकताए बाला साहेब ठाकरे ही एक मात्र ऐसे नेता थे जो सदैव जानता की मदद के लिए तैयार रहते थे। अब ऐसा नेता भारत को मिल पाना असंभव हैए परन्तु शिव सेना बाला साहेब ठाकरे के पद चिन्हों पर चलते हुए उन्हें सदैव जीवित रखेगी। बाला साहेब ठाकरे की पुण्यतिथि पर जिला महासचिव श्रवण रावतए जिला प्रवक्ता अनुज दीक्षित, जिला उपाध्यक्ष ननकऊ रावत, श्रीकृष्ण वर्मा, चेतराम वर्मा, राजेन्द्र रावत, अतुल दीक्षित, जीत कुमार अवस्थी, अजय शुक्ला आदि लोग शामिल हुए।

थाना सतरिख में हुई दुखद घटना के दृष्टिगत शासन द्वारा मृतका के परिजनों को धनराशि अंतरित

थाना सतरिख में हुई दुखद घटना के दृष्टिगत उत्तर प्रदेश शासन द्वारा मृतका के परिजनों के बैंक खाते में रु 8,25,000 की धनराशि ट्रेजरी के माध्यम से आज दिनांक 18/10/2020 को अंतरित कर दी गई है । माननीय सांसद बाराबंकी श्री उपेंद्र रावत जी द्वारा इस आशय का स्वीकृति पत्र पीड़िता के परिजनों को सौंपा गया ।

पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव कोरोना संक्रमित

पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव इस वक़्त कोरोना की जंग लड़ रहे है मेदांता अस्पताल से उनकी तस्वीर सामने आई है जिसमे वो कुछ स्वस्थ दिख रहे है

69000 शिक्षक भर्ती की नियुक्ति प्रक्रिया पर युवा मंच अध्यक्ष अनिल सिंह ने लगाए आरोप

 

प्रयागराज, 16 अक्टूबर 2020, 31277 सहायक अध्यापकों को नियुक्त पत्र वितरण के वक्त अपने संबोधन में मुख्यमंत्री द्वारा सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत ही भेदभाव रहित और पारदर्शी भर्ती बताने के दावे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए युवा मंच अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट ने 37 हजार पदों को शिक्षा मित्रों के लिये रिजर्व रखने का आदेश जारी किया था और शेष पदों पर सरकार अगर चाहे तो नियुक्ति दे सकती है, इसका अभिप्राय यह कतई नहीं हो सकता कि जिला आबंटन 67 हजार सीट के आधार पर करने के बाद जिलावार मनमाने ढंग से सीटे कम कर दी जायें। दरअसल अगर नियुक्ति करना ही था तो जिला आबंटन भी नये सिरे से 31277 पदों के लिए प्रदेशस्तरीय मेरिट के आधार पर किया जाना चाहिए था। स्वतः स्पष्ट है कि नियमों को ताक पर रख कर नियुक्ति दी जा रही है और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की भी गलत व्याख्या की जा रही है लिहाजा जिस तरह कट ऑफ का मामला अभी तक हल नहीं हुआ है उसी तरह इस मनमाने चयन प्रक्रिया से नये विवाद पैदा होंगे और यह भर्ती न्यायिक प्रक्रिया के पचड़े में अरसे तक उलझी रह सकती है। दरअसल अगर जिला आबंटन भी 31277 सीट के लिए भी प्रदेशस्तरीय मेरिट के आधार पर किया गया होता तो यह परिस्थिति नहीं पैदा होती जिसमें कम मेरिट के अभ्यर्थी चयनित हो गए हैं और मेधावी चयन से वंचित हो गए हैं। उन्होंने सरकार पर यह भी आरोप लगाया कि शेष बचे अभ्यर्थियों को झांसा दिया जा रहा है कि अगले चरण में उनकी भी नियुक्ति हो जायेगी, लेकिन यह तो तभी संभव है जब शिक्षा मित्रों के विरुद्ध निर्णय आये अन्यथा 40/45 कट ऑफ की स्थिति में अन्य अभ्यर्थियों का चयनित होना संभव नहीं है।

साहिब !!! दिल्ही आने तक के पैसे नही है कृपया पुरस्कार डाक से भिजवा दो!:- हलधर नाग

जिसके नाम के आगे कभी श्री नही लगाया गया, 3 जोड़ी कपड़े ,एक टूटी रबड़ की चप्पल एक बिन कमानी का चश्मा और जमा पूंजी 732 रुपया का मालिक आज
पद्मश्री से उद्घोषित होता है ।।
ये हैं ओड़िशा के हलधर नाग ।
जो कोसली भाषा के प्रसिद्ध कवि हैं। ख़ास बात यह है कि उन्होंने जो भी कविताएं और 20 महाकाव्य अभी तक लिखे हैं, वे उन्हें ज़ुबानी याद हैं। अब संभलपुर विश्वविद्यालय में उनके लेखन के एक संकलन ‘हलधर ग्रन्थावली-2’ को पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा। सादा लिबास, सफेद धोती, गमछा और बनियान पहने, नाग नंगे पैर ही रहते हैं। ऐसे हीरे को चैनलवालों ने नहीं, मोदी सरकार ने पद्मश्री के लिए खोज के निकाला
हलधर नाग :
उड़‍िया लोक-कवि हलधर नाग के बारे में जब आप जानेंगे तो प्रेरणा से ओतप्रोत हो जायेंगे। हलधर एक गरीब दलित परिवार से आते हैं।10 साल की आयु में मां बाप के देहांत के बाद उन्‍होंने तीसरी कक्षा में ही पढ़ाई छोड़ दी थी। अनाथ की जिंदगी जीते हुये ढाबा में जूठे बर्तन साफ कर कई साल गुजारे। बाद में एक स्कूल में रसोई की देखरेख का काम मिला। कुछ वर्षों बाद बैंक से 1000रु कर्ज लेकर पेन-पेंसिल आदि की छोटी सी दुकान उसी स्कूल के सामने खोल ली जिसमें वे छुट्टी के समय पार्टटाईम बैठ जाते थे। यह तो थी उनकी अर्थ व्यवस्था। अब आते हैं उनकी साहित्यिक विशेषता पर। हलधर ने 1995 के आसपास स्थानीय उडिया भाषा में ”राम-शबरी ” जैसे कुछ धार्मिक प्रसंगों पर लिख लिख कर लोगों को सुनाना शुरू किया। भावनाओं से पूर्ण कवितायें लिख जबरन लोगों के बीच प्रस्तुत करते करते वो इतने लोकप्रिय हो गये कि इस साल राष्ट्रपति ने उन्हें साहित्य के लिये पद्मश्री प्रदान किया। इतना ही नहीं 5 शोधार्थी अब उनके साहित्य पर PHd कर रहे हैं जबकि स्वयं हलधर तीसरी कक्षा तक पढ़े हैं।

साक्षात्कार शुरू करने व विज्ञापन करने को लेकर चयन बोर्ड पर जमकर हुआ हंगामा

27जुलाई 2020 प्रयागराज , माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड पर युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह के नेतृत्व में प्रतियोगी छात्रों ने टी जी टी /पी जी टी -2016 के साक्षात्कार को शुरू करने ,40,000 खाली पदों के विज्ञापन जारी करने,जीवविज्ञान की परीक्षा तिथि घोषित करने तथा सभी लंबित परिणाम तत्काल घोषित करने को लेकर जम कर हंगामा किया प्रतियोगी छात्रों का कहना था कि 16 जुलाई को उप सचिव नवल किशोर जी ने यह कहा था कि 25जुलाई 2020तक साक्षात्कार शुरू करने सहित सभी मामले पर बैठक कर निस्तारण कर दिया जाएगा लेकिन ऐसा न होने से आक्रोशित प्रतियोगी छात्रों ने जमकर अध्यक्ष के खिलाफ नारे बाजी की फिर भी चयन बोर्ड से कोई भी जब नहीं आया तो हंगामा शुरू कर दिया युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह ने तत्काल
C Oकर्नलगंज को फोन कर माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन एलनगंज पर बुलाया तब जाकर चयन बोर्ड के अध्यक्ष वीरेश कुमार राय जी की अनुपस्थिती में उप सचिव नवल किशोर जी ने आकर ज्ञापन लिया और आश्वस्त किया कि साफ्टवेयर को बनाने में देरी होने के कारण साक्षात्कार का सिड्यूल जारी नहीं हुआ वरना कर दिया जाता जल्द ही इसी सप्ताह में सिडूल जारी कर दिया जाएगा और 20अगस्त 2020से पहले साक्षात्कार शुरू कर दिया जाएगा ,विज्ञापन को लेकर साफ्टवेयर तैयार किया जा रहा है अगर कोई व्यवधान नहीं आया तो 15से20दिन में साफ्टवेयर बनकर तैयार हो जाएगा साफ्टवेयर तैयार होते ही विज्ञापन जारी कर दिया जाएगा ।जीवविज्ञान की लम्बित परीक्षा के सम्बन्ध में अध्यक्ष महोदय सीघ्र ही निर्णय लेगें क्योंकि सेन्टर निर्धारण का निर्णय उन्हें ही लेना है,सभी लंबित परिणाम यथा शीघ्र घोषित कर दिया जाएगा श्रीसिंह ने चयन बोर्ड को चेतावनी दी है कि इस बार यदि हीला हवाली हुई तो 20 अगस्त को आमरण अनशन की दी है चेतावनी ज्ञापन देते समय युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह, विनय सिंह, मनीष कुमार, महेश पाल,सुनील भारतीय, ओपी यादव ,विनोद पाण्डेय, प्रदीप कुमार, आदि सैकड़ों छात्र उपस्थित रहे ।